Home / U-V / योनि खमीर संक्रमण (Vaginal Yeast Infection) : कारण, लक्षण और सुझाव

योनि खमीर संक्रमण (Vaginal Yeast Infection) : कारण, लक्षण और सुझाव

आज हम आपको वैजिनल यीस्ट इन्फेक्शन ( Vaginal Yeast Infection ) के बारे में बताएँगे जो आपको न केवल इसके होने के कारण से अवगत कराएगा बल्कि इससे बचने के लिए भी आपको जानकारी दी जायेगी।

यदि योनि के अन्दर या बाहर बहुत तेज दर्द,

खुजली या बदबू है तो ये वजाइना यीस्ट इन्फेक्शन (योनी खमर संक्रमण) का संकेत है। इसका मतलब अपकी योनि संक्रमित (इन्फेक्टेड) हो रही है। ये स्त्रियों में होने वाली आम समस्या है। इसका शिकार हर 5 में से एक स्त्री अवश्य है।  यदि इस संक्रमण के लिये जल्द से जल्द कोई उपाय या परामर्श ना लिया गया तो आपकी समस्या और अधिक बढ़ सकती है। लेकिन फिक्र ना करें क्योंकि ये संक्रमण जानलेवा तो नहीं होता। लेकिन अगर आप इसे बढ़ने देंगे तो आपके और आपके पार्टनर दोनों के जननांग (जेनिटल्ज़) संक्रमित हो सकते हैं। जिससे जननांगों में हमेशा खुजली, जलन और बदबू रहेगी।

वजाइना यीस्ट इन्फेक्शन क्या है

अब आप सोच रहीं होगीं की ये यीस्ट इन्फेक्शन होता क्या है। यीस्ट एक प्रकार का फंगस होता है जो हर स्त्री की योनि में होता है। डॉक्टरी भाषा में इस फंगस को कैंडिडा एल्बीकैंस नाम से जानते है। एक स्वस्थ स्त्री में यीस्ट संतुलित रहता है इसलिए इसका पता भी नहीं चलता। लेकिन जब कैंडिडा एल्बीकैंस कई गुना बढ़ जाता है तब योनि संक्रमित हो जाती है। ये समस्या हर 5 में से एक स्त्री को होती है। यीस्ट गर्मियों के दिनों में पसीने के कारण भी असंतुलित होकर बढ़ जाते हैं। जो बदबू, जलन और खुजली का कारण बन जाते हैं।

यीस्ट इन्फेक्शन के कारण –

जैसा कि हमने अभी जाना कि हर स्त्री की योनी में कैंडिडा एल्बीकैंस नाम का फंगस होता है। जब तक ये फंगस संतुलित या संख्या में कम होता है तब तक कोई संक्रमण नहीं होता। लेकिन जब इस फंगस में वृद्धि हो जाती है तो योनि संक्रमित हो जाती है। इस फंगस को संतुलित रखने में रोग प्रतिरोधक क्षमता व अच्छे बैक्टीरिया (जिनसे हमें कोई हानी नहीं) मदद करते है। लेकिन जब कोई स्त्री एंटीबायोटिक या शुक्राणुनाशक दवाओं का उपयोग करती हैं तब बुरे बेक्टीरिया के साथ-साथ अच्छे बैक्टीरिया भी मर जाते है जिससे फंगस को बढ़ने का सही समय मिल जाता है।

कई बार यीस्ट इन्फेक्शन उन स्त्रियों को भी हो जाते हैं जिनके पार्टनर पहले से ही इस समस्या से जूझ रहे हों।

तो यदि आप सोच रहे हैं कि यीस्ट इन्फेक्शन सिर्फ स्त्रियों को होता है तो बिल्कुल गलत ये पुरूषों को भी हो सकता है। लेकिन पुरूषों में होने का कारण बिना सुरक्षा के यौन संबंध बनाना होता है।

Vaginal Yeast Infection ke लक्षण –

ये तुरन्त होने वाला संक्रमण नहीं है ये धीरे-धीरे लंबे समय में बढ़ता है। इसके मुख्य लक्षण हैं –

  • योनि मार्ग से गाढा, सफेद रंग का तरल पदार्थ निकलना ।
  • खट्टी व गंदी बदबू आना ।
  • योनि व उसके आसपास तेज खुजली व जलन रहना ।
Vaginal Yeast Infection ke बचाव-
  • योनि व आसपास का जगह को साफ सुथरा व सूखा रखें।
  • बिना परामर्श या सलाह के किसी भी दवा का इस्तेमाल ना करें।
  • बहुत अधिक देर तक गिले कपड़े ना पहनें।
  • जब तक लक्षण पूरी तरह सही ना हो जायें यौन संबंध (सेक्स) ना बनायें।
  • माहवारी (पीरियड्स) के दौरान साफ सफाई का ख़ास ख्याल रखें।

अगर इसके इलाज में लापरवाही बरती जाए या सही इलाज न कराया जाए तो वजाइना और उसके आसपास की त्वचा में सूजन व लाली आ जाती है।

जलन और त्वचा के फटने का भी खतरा रहता है।

Vaginal-Yeast-Infections-natural-remedies-ssohm

गर्भवती स्त्रियों में यीस्ट इन्फेक्शन की समस्या आम हैं

इसलिए बिना डॉक्टर की सलाह के किसी भी दवा का इस्तेमाल ना करें।

 

About SSOHM

SSOHM is a health center established in 1990 by Dr. R.K Aggarwal for relieving all the sufferers in the world from there disease naturally. From last 23 years SSOHM is successfully providing homoeopathy treatment for all kind of diseases.. SSOHM periodically arrange free health campaigns for sufferers all over the India. Now we are also providing Free Online Consultation by a team of specialized doctors representing SSOHM in the web world.

Check Also

#HealthTips - Papaya benefits and risks during Pregnancy

#HealthTips – Papaya benefits and risks during Pregnancy

Is papaya one of your favorite fruit? If yes , then I must say you have …

3 comments

  1. Whatever the causes may be it is important to try out herbal vaginal tightening cream.

  2. Sir meri yoni m daily khuji rehti h or m khujli Kar to fir toylet karte waqt jalan Hoti h …

    • Aapki infection ki problem ho sakti hai jiski wajah se itching hona ya leucoderma ki problem bhi ho sakti hai. Hum aapko yahi salah denge ki ek baar doctor se consult kare. Dr se consult aap clinic visit ya online bhi consult kar sakte hai. Aap hame call kare – 9266522522 ya email kare – report@ssohm.com aur aapko saari jaankari de di jaayegi.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.